भारतीयों से समान व्यवहार वाली नई अप्रवासी नीति बनाएंगे सुनक

Posted On:- 2022-07-25




लंदन (वीएनएस)। ब्रिटेन में प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी में सबसे आगे चल रहे भारतीय मूल के ऋषि सुनक ने रविवार को अप्रवासन के संवेदनशील मसले की चर्चा की। कहा, प्रधानमंत्री बनने पर वह सामान्य समझ वाले कदम उठाएंगे जो हर किसी के लिए स्पष्ट होंगे। कंजरवेटिव पार्टी के सदस्यों का समर्थन हासिल करने के लिए जारी अभियान में सुनक अगर बाजी मारते हैं तो वह बोरिस जानसन का स्थान लेंगे। उनका मुकाबला विदेश मंत्री लिज ट्रस से है।

दिग्गज आइटी कंपनी इन्फोसिस के संस्थापक एन नारायण मूर्ति के दामाद सुनक जीतते हैं तो वह ब्रिटेन में भारतीय मूल के पहले प्रधानमंत्री होंगे। ब्रिटेन के वित्त मंत्री रह चुके 42 वर्षीय सुनक ने देश की सीमाओं को सुरक्षित रखने के लिए दस बिंदुओं की योजना सार्वजनिक की है। द डेली टेलीग्राफ में लिखे लेख में सुनक ने मानवाधिकारों के मामलों में कार्य करने वाली यूरोपियन कोर्ट की शक्तियां सीमित करने का भी वादा किया है। कहा है कि यूरोपियन कोर्ट हमारी सीमाओं के सुचारु नियंत्रण से हमें नहीं रोक सकता।



Related News
thumb

सलमान रुश्दी के बाद जेके राउलिंग को मिली जान से मारने की धमकी, ट्वी...

अमेरिका के न्यूयोर्क में लेखक सलमान रुश्दी पर जानलेवा हमले के बाद अब हैरी पॉटर की लेखिका जेके राउलिंग को जान से मारने की धमकी मिली है। उन्हें ट्विट...


thumb

भारतीय मूल के लेखक सलमान रुश्दी पर न्यूयार्क में जानलेवा हमला, हालत...

लेखक सलमान रुश्दी पर शुक्रवार को न्‍यूयॉर्क में चाकू से हमला हुआ। वह पश्चिमी न्यूयॉर्क में एक व्याख्यान देने पहुंचे थे। पुलिस ने काले लिबास में आए...


thumb

श्रीलंका के संविधान संशोधन मसौदे में राष्ट्रपति की शक्तियों में कमी...

श्रीलंका के संविधान संशोधन मसौदे में राष्ट्रपति की शक्तियों में कमी के लिए नये प्रावधान जोड़े गए


thumb

ट्रंप के भारतीय-अमेरिकी समर्थकों ने एफबीआई के छापे की निंदा की

ट्रंप के भारतीय-अमेरिकी समर्थकों ने एफबीआई के छापे की निंदा की


thumb

मैं झूठे वादे करके जीतने के बजाय हारना पसंद करूंगा: ऋषि सुनक

मैं झूठे वादे करके जीतने के बजाय हारना पसंद करूंगा: ऋषि सुनक


thumb

ताइवान में युद्ध अभ्यासों को सामान्य स्थिति के तौर पर स्थापित करने ...

ताइवान में युद्ध अभ्यासों को सामान्य स्थिति के तौर पर स्थापित करने नहीं दे सकते : पेलोसी