बाढ़ का कहर : पाकिस्तान के इन प्रांतों में जानमाल का नुकसान, मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी

Posted On:- 2022-07-31




इस्लामाबाद/नई दिल्ली (वीएनएस)। पाकिस्तान के कई राज्य इन दिनों बाढ़ की समस्या से जूझ रहे हैं। पाकिस्तान में बाढ़ का सबसे ज्यादा असर बलूचिस्तान और सिंध प्रांत में देखने को मिला है। यहां हो रही भारी बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति भी भयावह बनती जा रही है। मौसम विभाग की मानें तो बलूचिस्तान में इस साल अप्रत्याशित रूप से भारी बारिश हुई है। एक स्थानीय मीडिया ने पाकिस्तान के आपदा प्रबंधन अधिकारियों के हवाले से बताया कि पिछले 24 घंटों में एक परिवार के नौ लोग बाढ़ में बह गए। डान की खबर के मुताबिक मृतकों में सात बच्चे और एक महिला शामिल हैं।

खैबर पख्तूनख्वा में बाढ़ ने ली कई लोगों की जान
इसके अलावा पीडीएमए द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, खैबर पख्तूनख्वा में बाढ़ व एक मकान की छत गिरने से कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई और 17 घायल हो गए हैं। साथ ही पिछले 36 घंटों में बाढ़ में लगभग 100 घर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं, जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि, पाकिस्तान की सरकार ने भारी बारिश को देखते हुए बलूचिस्तान प्रांत में धारा 144 लागू कर दी है।

बलूचिस्तान प्रांत में धारा 144 लागू
बलूचिस्तान के मुख्य सचिव अब्दुल अजीज उकाली ने कहा, 'प्रांत में धारा 144 लागू कर दी गई है और नागरिकों को 10 दिनों तक अनावश्यक यात्रा से बचने की सलाह दी गई है'। उन्होंने कहा कि एक जून से अब तक बारिश ने 124 लोगों की जान ले ली है और सूबे में 10,000 घरों को नुकसान पहुंचा है। बाढ़ से लगभग 565 किमी सड़कें और 197,930 एकड़ कृषि भूमि क्षतिग्रस्त हो गई, जबकि 712 पशुधन भी मारे गए हैं।

बाढ़ की चपेट में आने से डूबे सिंध प्रांत के 50 गांव
बलूचिस्तान से अचानक आई बाढ़ के बाद पाकिस्तान के सिंध प्रांत में भी बाढ़ का कहर जारी है। जानकारी के अनुसार, सिंध प्रांत में 50 से अधिक गांव जलमग्न हो गए। सूत्रों के अनुसार, बलूचिस्तान में मूसलाधार बारिश और अचानक आई बाढ़ के कारण पानी की दूसरी धारा निकटवर्ती कंबार-शाहदादकोट जिले और दादू जिले के कछो के पहाड़ी क्षेत्र में प्रवेश कर गया है, जिससे विभिन्न क्षेत्रों में अधिक नुकसान हुआ।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र छोड़ने को मजबूर हुए लोग
स्थानीय सूत्रों ने कहा कि प्रभावित इलाकों के लोग अपनी जान बचाने के लिए पहाड़ियों और सुरक्षात्मक बांधों में शरण लेने को मजबूर हैं। साथ ही बाढ़ प्रभावित गांव में 70 साल की एक बुजुर्ग महिला की चिकित्सा सहायता न मिलने पर स्वास्थ्य की स्थिति के कारण मृत्यु हो गई है। पाकिस्तान के आपदा प्रबंधन अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि भारी बारिश और बाढ़ में 19 और लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों अन्य बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा प्रांतों में फंसे हुए हैं। पाकिस्तान मौसम विज्ञान विभाग (पीएमडी) ने अगले 24 घंटों के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों में और बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की भविष्यवाणी जारी की है।



Related News
thumb

सलमान रुश्दी के बाद जेके राउलिंग को मिली जान से मारने की धमकी, ट्वी...

अमेरिका के न्यूयोर्क में लेखक सलमान रुश्दी पर जानलेवा हमले के बाद अब हैरी पॉटर की लेखिका जेके राउलिंग को जान से मारने की धमकी मिली है। उन्हें ट्विट...


thumb

भारतीय मूल के लेखक सलमान रुश्दी पर न्यूयार्क में जानलेवा हमला, हालत...

लेखक सलमान रुश्दी पर शुक्रवार को न्‍यूयॉर्क में चाकू से हमला हुआ। वह पश्चिमी न्यूयॉर्क में एक व्याख्यान देने पहुंचे थे। पुलिस ने काले लिबास में आए...


thumb

श्रीलंका के संविधान संशोधन मसौदे में राष्ट्रपति की शक्तियों में कमी...

श्रीलंका के संविधान संशोधन मसौदे में राष्ट्रपति की शक्तियों में कमी के लिए नये प्रावधान जोड़े गए


thumb

ट्रंप के भारतीय-अमेरिकी समर्थकों ने एफबीआई के छापे की निंदा की

ट्रंप के भारतीय-अमेरिकी समर्थकों ने एफबीआई के छापे की निंदा की


thumb

मैं झूठे वादे करके जीतने के बजाय हारना पसंद करूंगा: ऋषि सुनक

मैं झूठे वादे करके जीतने के बजाय हारना पसंद करूंगा: ऋषि सुनक


thumb

ताइवान में युद्ध अभ्यासों को सामान्य स्थिति के तौर पर स्थापित करने ...

ताइवान में युद्ध अभ्यासों को सामान्य स्थिति के तौर पर स्थापित करने नहीं दे सकते : पेलोसी