मतदाताओं से आधार संग्रह कर निर्वाचकों की पहचान एवं प्रमाणीकरण किया जाएगा

Posted On:- 2022-07-31




1 अगस्त से होगा औपचारिक शुभारंभ

धमतरी (वीएनएस)। भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली के निर्देशानुसार मतदाताओं से आधार डेटा का संग्रह कर, मतदाता सूची के डेटा में जोडऩे और प्रमाणीकरण के लिए जारी अधिसूचनाओं को लागू करने के संबंध में निर्देशित किया गया है। इस संबंध में एक अगस्त को औपचारिक रूप से कार्यक्रम का शुभारंभ किया जाएगा।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी पी.एस.एल्मा से प्राप्त जानकारी के अनुसार कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य मतदाताओं से आधार संग्रह कर निर्वाचकों की पहचान स्थापित करना और मतदाता सूची में प्रविष्टियां का प्रमाणीकरण और एक से अधिक बार पंजीबद्ध व्यक्ति के नाम की पहचान करना है। स्पष्ट तौर पर बताया गया कि आधार संख्या एकत्र करना मतदाताओं की ओर से स्वैच्छिक है। मतदाताओं को आधार नंबर ऑनलाइन जमा करने के लिए एनवीएसपी, वीएचए एप्लीकेशन आदि में सुविधा प्रदान की जाएगी। मतदाता स्व प्रमाणन हेतु मतदाता पोर्टल/एप पर ऑनलाइन प्रपत्र-6 बी भर सकते हैं और यूआईडीएआई के साथ पंजीकृत अपने मोबाइल नंबर पर प्राप्त होने वाली ओटीपी का उपयोग करके आधार को प्रमाणित कर सकते हैं।

यदि मतदाता स्वयं प्रमाणित नहीं करना चाहता है या स्वयं प्रमाणीकरण करने में विफल रहता है, तो मतदाता प्रमाणीकरण के बिना आवश्यक अनुलग्नकों के साथ प्रपत्र-6बी ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। ऑफलाइन के माध्यम से निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों द्वारा बूथ लेवल अधिकारी को घर-घर सत्यापन हेतु नियुक्त किया जाएगा। सभी ऑफलाइन प्राप्त प्रपत्र-6बी को बूथ लेवल अधिकारी गरुड़ा एप का उपयोग करके या निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी द्वारा ईआरओ-नेट  का उपयोग करके फार्म प्राप्त होने के सात दिवस के भीतर डिजिटाइज किया जाएगा।

आधार संख्या एकत्रित करते समय आधार अधिनियम-2016 की धारा 37 के तहत प्रावधान का पालन किया जाएगा और किसी भी परिस्थिति में इसे सार्वजनिक एवं पब्लिक डोमेन नहीं किया जाएगा। साथ ही आधार संख्या हार्ड कॉपी प्रपत्र-6बी के संरक्षण के लिए आधार विनियम-2022 में उल्लेखित प्रावधानों का कड़ाई से पालन किया जाएगा। आयोग की मंशा के अनुरूप 31 मार्च 2023 तक प्रपत्र-6बी में आधार संख्या एकत्रित करने के लिए शत प्रतिशत मतदाताओं से सम्पर्क कर संभावित लक्ष्य को प्राप्त किया जाना है। कोई भी मतदाता अपने स्वयं के आधार डोटा का मतदाता सूची में प्रमाणीकरण कर सकते हैं या बूथ लेवल अधिकारियों के माध्यम से भी मतदाता प्रमाणीकरण करवा सकते हैं। अत: मतदाताओं से अपेक्षित है कि स्वयं तथा परिवार के सभी सदस्यों का आधार डेटा को मतदाता सूची के डेटा में जोडऩे एवं प्रमाणीकरण कराते हुए इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग प्रदान करें।



Related News
thumb

मुख्यमंत्री से अग्रवाल समाज दुर्ग के प्रतिनिधिमंडल ने की सौजन्य मुल...

मुख्यमंत्री से आज उनके निवास कार्यालय में अग्रवाल समाज दुर्ग के प्रतिनिधिमंडल ने सौजन्य मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को समाज द्वारा आयो...


thumb

गौठान की महिलाएं बना रही फाईल-फोल्डर, कॉन्फ्रेंस-लेपटॉप बैग, पर्दा

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा रायपुर में 16 एवं 17 अगस्त को आयोजित देशभर के कृषि वैज्ञानिकों की कार्यशाला में केला तना रेशा से बना कान्फ्र...


thumb

मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण : शिक्षा दूत, ज्ञान दीप और शिक्षाश्र...

मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार प्रतिवर्ष 5 सितम्बर को विकासखण्ड स्तर, जिला स्तर और संभाग स्तर पर ‘मुख्यमंत्री गौरव अलंकरण’ योजना के अंतर्गत शिक्षको...


thumb

कोरोना बुलेटिन : प्रदेश में 285 नए मामले, रायपुर से 28

स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार 16 अगस्त की स्थिति में प्रदेश की पाॅजिटिविटी दर 2.91 प्रतिशत है। आज प्रदेश भर में हुए 9 हजार 791 सैंपलो...


thumb

साइबर अपराधों के प्रति सतर्क करने राजधानी पुलिस ने शुरू किया 'सुनो ...

आम नागरिकों और युवाओं को साइबर अपराधों के प्रति सतर्क करने रायपुर पुलिस ने 'सुनो रायपुर' जागरूकता अभियान की शुरुवात की। 7 दिन तक चलने वाला यह अभिया...


thumb

महिला आयोग की पहल पर बालोद पुलिस ने शिक्षक को हिरासत में लिया

राज्य महिला आयोग द्वारा 1 प्रकरण को स्वतः संज्ञान में लेते हुए एफआईआर दर्ज कर अपराधी को हिरासत में रखा गया है। बालोद जिले के एक स्कूल का था जिसमे आ...