दरभा ब्लॉक में लगे हाट-बाजार से 12 हजार ग्रामीणों को मिला स्वास्थ्य लाभ

Posted On:- 2022-07-30




सात बाजार में अब तक कुल 2695 लोगों की हुई मलेरिया जांच

जगदलपुर (वीएनएस)। सर्दी-बुखार, दर्द, मौसमी बीमारी, बीपी-शुगर की दवाई की बात हो या खून जांच कराने की। हाट-बाजार क्लीनिक में सब सुविधाएं दी जा रही हैं। ऐसे में ग्रामीणों को दवाई, जांच या इलाज के लिए अब न तो दूर-दूर भटकना पड़ रहा है और न ही उनमें इलाज के खर्च का कोई तनाव है। दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को सुलभ तरीके से पहुंचाने के लिए छतीसगढ़ सरकार द्वारा अक्टूबर-2019 से मुख्यमंत्री हाट-बाजार योजना शुरू की गई है। बीच में कोविड काल में इसकी रफ्तार में रुकावट आई थी, लेकिन अब पुनः यह लोगों की सेवा में अनवरत जारी है। इसी क्रम में दरभा ब्लॉक के सात बाजारों में हाट-बाजार क्लीनिक संचालित की जा रही है।

इस संबंध में आर.एम.ओ पवन वर्मा ने बतायाः “ग्रामीणों को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना दरभा ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले अन्य नजदीकी क्षेत्रों में भी संचालित हो रही  है, जिसके तहत बाजार में ही निश्चित स्थल पर स्वास्थ्य शिविर लगाकर ग्रामीणों का मौसमी सर्दी-खांसी बुखार, दर्द, मलेरिया, पेचिस, दस्त, उल्टी, रक्त अल्पता, कमजोरी, ब्लड प्रेशर, मधुमेह, आदि बीमारियों की जांच, उपचार व चिकित्सकीय परामर्श के साथ ही टीबी एवं कैंसर के संभावित मरीजों की स्क्रीनिंग भी की जा रही है। परीक्षण के उपरांत उन्हें तत्काल निःशुल्क दवाओं का भी वितरण किया जाता है। शिविर में आए मरीजों को गंभीर रोग होने की स्थिति में मुख्यालय अथवा अन्य बड़े अस्पतालों के लिए रिफर भी किया जाता है। दरभा ब्लॉक में लगे क्लीनिक के माध्यम से अबतक 12,571 ग्रामीणों को स्वास्थ्य सेवा का लाभ प्रदान किया गया है।”

बाजार क्लीनिक में अपनी जांच कराने आये ककालगुर निवासी बलीराम ने बताया: " बीते कुछ महीनों से मुझे खांसी हो रही थी शुरुआत में इसे नजरअंदाज किया, लेकिन पिछले सप्ताह से खांसी बड़ गयी थी इसलिये बाजार में ही अपनी जांच करवाने आया हू।  डॉ.ने जरूरी दवा दे दी है, साथ ही बलगम की जांच कराने और बीड़ी के सेवन का प्रयोग बंद करने की सलाह दी है।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, हाट बाजार क्लीनिक योजना की शुरुआत से अबतक दरभा ब्लॉक में कुल 2695 लोगों की मलेरिया जांच बाजार स्थल पर की गई है। वहीं 1847 एनीमिया जांच, 3333 उच्च रक्तचाप जांच, 4338 मधुमेह जांच, 1008 दृश्यता परीक्षण जांच, 351 कुपोषण जांच, 139 सिकल सेल जांच, 28 कुष्ठ जांच, 261 टीबी संदिग्धों को बलगम जांच के लिये नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र रिफर किया गया।



Related News
thumb

धीमी प्रगति पर कलेक्टर ने जतायी नाराजगी, अभियान छेड़कर लक्ष्य पूरा क...

कलेक्टर अवनीश शरण की अध्यक्षता में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की जिला स्तरीय मॉनीटरिंग समिति की बैठक आयोजित की गई। कलेक्टर ने बहुत कम संख्या में क...


thumb

श्रम विभाग की विभिन्न योजनााओं से 1 हजार 117 हितग्राहियों को मिला 1...

श्रम विभाग की ओर से श्रमिको के हित में जनकल्याणकारी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ असंगठित कर्मकार राज्य सामाजिक सुरक्षा मण्डल के अंतर...


thumb

शिक्षा सप्ताह के अंतर्गत ‘शिक्षा में प्रौद्योगिकी उत्सव‘ 26 को

राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 की चौथी वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर, ‘शिक्षा सप्ताह‘ का आयोजन 22 से 28 जुलाई तक किया जा रहा है। शिक्षा सप्ताह का उद्देश्...


thumb

डायरिया और मलेरिया से बचाव के लिए स्कूली बच्चे दे रहे संदेश

जिले में मलेरिया और डायरिया से निपटने जिला प्रशासन की ओर से हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। लोगों को इन बीमारियों सहित मौसमी बीमारियों से सचेत करने ज...


thumb

साप्ताहिक जनदर्शन में सुनी गई लोगों की समस्याएं

कलेक्टर अवनीश शरण के निर्देश पर संयुक्त कलेेक्टर एस.एस. दुबे ने आज साप्ताहिक जनदर्शन में लोगों की समस्याएं सुनी और अधिकारियों को जल्द निराकरण के न...


thumb

कलेक्टर-एसपी ने की कानून व्यवस्था की समीक्षा

कलेक्टर व जिला दण्डाधिकारी अवनीश शरण एवं एसपी रजनेश सिंह ने अधिकारियों की बैठक लेकर कानून व व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की।