जिपं सीईओ ने की मनरेगा योजना के विभिन्न कार्यों की समीक्षा

Posted On:- 2022-07-30




कवर्धा (वीएनएस)। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत कराए जा रहे कार्यों की समीक्षा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कबीरधाम संदीप कुमार अग्रवाल ने की। योजना अंतर्गत ग्रामीण अंचलों में बनाए जा रहे अमृत सरोवर तालाबों की कार्यवार समीक्षा की गई।

सभी कार्यक्रम अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा गया कि स्वीकृत कार्यों को समय सीमा में पूर्ण कराया जाए तथा प्रत्येक अमृत सरोवर तालाब के लिए स्टेकहोल्डर को तैयार किया जाए जिससे आजीविका के साधन विकसित किए जा सके। कार्यस्थल पर शासन द्वारा निर्धारित मानक अनुसार सूचना फलक लगाया जाए जिससे ग्रामीणों को कार्य के संबंध में पूरी जानकारी प्राप्त हो सके। सभी निर्माणाधीन अमृत सरोवर तालाबों का जियो टैगिंग कार्य आगामी दो दिवस में पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। जिले के ग्रामीणों को रोजगार दिए जाने के संबंध में चर्चा करते हुए सीईओ जिला पंचायत ने कहा कि वर्षा ऋतु को देखते हुए वृक्षारोपण सेग्रीएशन सेंटर वा अन्य कार्यों में ग्रामीणों को रोजगार दिया जाए। सभी तकनीकी सहायकों को निर्देशित करते हुए कहा गया है कि वह अपने क्षेत्र में मजदूरी मूलक कार्यों की पहचान कर ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध कराया। गौठान विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा गया कि गौठान मे आजीविका संवर्धन की गतिविधियां के लिए स्व सहायता समूह को तैयार किया जाए तथा मुर्गी शेड, बकरी शेड, मशरूम उत्पादन शेड, डबरी एवं बाड़ी बनाए जाने के लिए प्रस्ताव जिला पंचायत में प्रस्तुत किया जाए। चारागाह विकास कराए जाने के लिए दो दिवस के भीतर प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश जनपद पंचायतों को दिए गए। वन अधिकार क्षेत्र में अधिक से अधिक मजदूरी मुल्क कार्य खोल कर आजीविका संवर्धन के लिए ग्रामीणों को जोड़ने की बात कही गई।

जनपद पंचायत पंडरिया एवं बोडला को निर्देशित करते हुए कहा गया एफ आर ए क्लस्टर को विकसित करने हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाए। सीएलएफ परियोजना के अंतर्गत सुकृत नर्सरी एवं पौधरोपण कार्य को यथा शीघ्र प्रारंभ कराए जाने के निर्देश दिए गए। नरवा अभियान के तहत सभी नालों में हो रहे कार्यों को समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। तकनीकी सहायकों को निर्देशित करते हुए कहा गया कि निर्माण कार्य गुणवत्ता के साथ किया जाए जिससे कि कार्य होने के बाद जिले के सिंचित क्षेत्र में वृद्धि हो सके। नरवा अंतर्गत दूसरे चरण के कार्य के लिए चिन्हाकित नालो एवं पानी के स्रोतों का डीपीआर समय सीमा में बनाए जाने के निर्देश दिए गए। इस कार्य के लिए एक महा का समय अवधि निश्चित की गई। सभी मैदानी कर्मचारियों को निर्देशित करते हुए कहा गया कि मजदूरी भुगतान समय सीमा में किया जाए कार्यों का मूल्यांकन शासन द्वारा निर्धारित समय अवधि में हो इस बात को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। समीक्षा बैठक में सभी जनपद पंचायत के कार्यक्रम अधिकारी जिले के सभी तकनीकी सहायक एवं जिला पंचायत के अधिकारियों कर्मचारी उपस्थित रहे।



Related News
thumb

वेल्डिंग मशीन में करंट लगने से किसान की मौत

हल जोतने वाली नागर में वेल्डिंग करते समय करंट की चपेट में आकर किसान की मौत हो गई। घटना कोतबा चौकी क्षेत्र के कोतबा नगर पंचायत के वार्ड संख्या 14 स...


thumb

कार्य में लापरवाही बरतने वाली अधीक्षिका को कलेक्टर ने किया निलंबित

। कलेक्टर नीलेश कुमार क्षीरसागर ने गंभीर प्रवृत्ति के शिकायत की खबर पर संज्ञान लेते हुए विनिता कुजूर, मूल पद व्याख्याता एल.बी., शासकीय उमावि छोटेबे...


thumb

छोटेबेठिया घटना की जांच के लिए टीम गठित

कलेक्टर नीलेश कुमार क्षीरसागर द्वारा कोयलीबेड़ा विकासखंड के कन्या आवासीय विद्यालय छोटेबेठिया की घटना की जांच हेतु पखांजुर एस.डी.एम. अंजोर सिंह पैक...


thumb

खरीफ फसलों का बीमा कराने की अंतिम तिथि 31 जुलाई

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना मौसम खरीफ वर्ष 2024 के क्रियान्वयन हेतु फसल बीमा कराने की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2024 निर्धारित की गई हैं। योजना में धान स...


thumb

स्पोकन इंग्लिश का पांच दिवसीय प्रशिक्षण शुरू

जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान धरमजयगढ़ तथा राज्य कार्यालय के निर्देशानुसार विकासखंड रायगढ़ की 205 प्राथमिक शालाओं के 100 शिक्षकों को स्पोकन इंग...


thumb

एक पेड़ मां के नाम : बच्चों ने किया वृक्षारोपण

स्कूली बच्चों को पर्यावरण संरक्षण से जोड़ने के लिए माध्यमिक शाला पतरापाली के विद्यालय परिसर में "एक पेड़ मां के नाम" अभियान के तहत बच्चों, शिक्षको...