अब तो झीरम के सबूत जेब से निकालें : भाजापा

Posted On:- 2023-11-21




रायपुर (वीएनएस)। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सांसद अरुण साव ने झीरम घाटी मामले में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का सम्मान करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अब तो झीरम मामले में राजनीति छोड़कर अपनी जेब से वे सबूत निकालकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए को सौंप दें, जिन्हें वे मुख्यमंत्री रहते हुए पूरे कार्यकाल में अपनी जेब में छिपाए रहे। एक मुख्यमंत्री को इतना सामान्य ज्ञान तो होना ही चाहिए कि किसी अपराध के साक्ष्य छुपाना गंभीर अपराध होता है। भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री रहते हुए यह अपराध किया है। प्राकृतिक न्याय की अपेक्षा यही हो सकती है कि झीरम के सबूत छिपाने का अपराध करने वाले को भी जांच और पूछताछ के दायरे में होना चाहिए।

प्रदेश अध्यक्ष साव ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रहते हुए भूपेश बघेल ने स्वयं यह कबूल किया है कि झीरम के सबूत उनके कुर्ते की जेब में हैं। तब 5 साल मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने यह सबूत जांच एजेंसी के सुपुर्द क्यों नहीं किए? भाजपा आरंभ से स्पष्ट तौर पर यह मत प्रकट करती रही है कि झीरम मामले में कांग्रेस का चरित्र संदिग्ध है। कांग्रेस झीरम पर राजनीति कर रही है। भूपेश बघेल को जनता को यह भी बताना चाहिए कि झीरम हमले के चश्मदीद उनके कैबिनेट मंत्री ने क्यों इस मामले में न तो न्यायिक जांच आयोग के सम्मुख गवाही दी और न ही जांच एजेंसी को कोई सहयोग दिया। आखिर कांग्रेस और उसकी सरकार ने झीरम का सच सामने क्यों नहीं आने दिया, इसका जवाब छत्तीसगढ़ की जनता मांग रही है।

उन्होंने कहा कि झीरम कांड के तथ्यों के मामले में कांग्रेस की रहस्यमयी चुप्पी और राजनीतिक बयानबाजी में तत्परता इसका प्रमाण है कि कांग्रेस ही इस मामले में संदिग्ध है। कांग्रेस ने झीरम मामले का राजनीतिकरण किया। सरकार चलाते हुए 5 साल तक साक्ष्य छुपाए और अंत में झीरम के दो शहीदों की विधवाओं को विधायक रहते हुए टिकट से वंचित किया। कांग्रेस कभी झीरम के शहीदों के परिवार को न्याय नहीं मिलने देना चाहती।



Related News
thumb

किरंदुल में बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुए मकानों का किया जा रहा है सर्वे,...

विगत दिवस दंतेवाड़ा जिले में अनवरत वर्षा के चलते किरंदुल पहाड़ी में एनएमडीसी द्वारा निर्मित 11-बी डेम क्षतिग्रस्त हो गया और मलबा और बोल्डर युक्त पा...


thumb

कलेक्टर ने लिया बाढ़ प्रभावित इलाकों का जायजा

जिले में विकासखण्ड मुख्यालय कोंटा शबरी नदी के किनारे बसे होने के कारण डूबान क्षेत्र में आता है। इस क्षेत्र में पिछले 48 घण्टों से हो रही लगातार मूस...


thumb

बाढ़ को लेकर आवश्यक सतर्कता की अपील

जिले में बीते दिनों से अनवरत तेज बारिश हो रही है, लगातार बारिश के कारण नदी नाले उफान पर है। बाढ़ की संभावना को लेकर प्रशासन सजग है और प्रशासन द्वार...


thumb

भाजपा के इशारे पर पुलिस मेरे घर पर आई : देवेंद्र यादव

भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव को 3 बार नोटिस जारी करने के बाद रविवार को बलौदाबाजार पुलिस उनके घर पहुंच गई थी। लेकिन वे घर पर नहीं मिले तो उनके स्ट...


thumb

जल संरक्षण, शुद्ध पेयजल आपूर्ति, स्वच्छता के क्षेत्र में जन सरोकार ...

कलेक्टर एस जयवर्धन ने जिला कार्यालय के सभाकक्ष में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, विद्युत मंडल, क्रेडा नगर पंचायत के अधिकारियों की बैठक लेकर यहां संचालि...


thumb

धीमी प्रगति पर कलेक्टर ने जतायी नाराजगी, अभियान छेड़कर लक्ष्य पूरा क...

कलेक्टर अवनीश शरण की अध्यक्षता में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की जिला स्तरीय मॉनीटरिंग समिति की बैठक आयोजित की गई। कलेक्टर ने बहुत कम संख्या में क...