रूस के हमलों से अपने लड़ाकू विमानों को बचाने के लिए यूक्रेन करेगा ये काम

Posted On:- 2024-06-11




कीव (वीएनएस) । यूक्रेन अपने पश्चिमी सहयोगियों से मिलने वाले एफ-16 लड़ाकू विमानों में से कुछ को विदेशी एयरबेस पर रख सकता है ताकि रूसी हमलों से उन्हें बचाया जा सके। यूक्रेनी सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी। बेल्जियम, डेनमार्क, नीदरलैंड और नॉर्वे ने यूक्रेन को 60 से अधिक अमेरिका निर्मित एफ-16 लड़ाकू विमान मुहैया कराने का वादा किया है ताकि उसे रूसी हमलों का मुकाबला करने में मदद की जा सके। इस साल के अंत में इन विमानों की आपूर्ति शुरू होने की उम्मीद है, ऐसे में यूक्रेनी पायलट इन्हें उड़ाने का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।
यूक्रेन ने किया घातक हमला

यूक्रेन की वायुसेना में विमानन प्रमुख सेरही होलुबसोव ने कहा कि एक निश्चित संख्या में विमान को यू्क्रेन के बाहर स्थित एयरबेस पर तैनात रखा जाएगा ताकि यहां उन्हें निशाना बनने से बचाया जा सके। सेरही होलुबसोव की तरफ से यह बयान ऐसे समय पर आया है जब यूक्रेन ने रूस पर घातक हमला किया है। यूक्रेन ने अग्रिम चौकियों से लगभग 600 किलोमीटर दूर वायुसेना अड्डे के निकट खड़े रूसी अत्याधुनिक लड़ाकू विमान पर हमला किया है।   
पुतिन ने दी चेतावनी

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने चेतावनी दी है यदि नाटो सदस्य देश यूक्रेन में इस्तेमाल किए गए लड़ाकू विमान अपने यहां रखते हैं तो मास्को वहां हमले करने पर विचार कर सकता है। यूक्रेन के पश्चिमी सहयोगी, कीव को सैन्य सहायता बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि रूसी सैनिकों ने अमेरिकी सैन्य सहायता में लंबे समय से हो रही देरी का फायदा उठाते हुए 1,000 किलोमीटर (620 मील) से अधिक की सीमा रेखा पर हमले शुरू कर दिए हैं। यूक्रेन वर्तमान में अपने दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव के पास रूसी हमले को रोकने के लिए संघर्ष कर रहा है।



Related News


thumb

इजरायली हमले में तबाह होने के बाद फिर से खड़ा होने लगा हमास

इजरायल के हमले में पूरी तरह से तबाह हो जाने के बावजूद हमास के आतंकियों ने घुटने नहीं टेके हैं, बल्कि खुद को नए सिरे से खड़ा करना शुरू कर दिया है।


thumb

दक्षिण चीन सागर में फिलीपींस और चीन में युद्ध की आशंका

दक्षिण चीन सागर में चीन की दादागिरी से फिलीपींस अब तंग आ चुका है। एक दिन पहले दोनों देशों के नौसैनिकों में दक्षिण चीन सागर में तेज भिड़ंत हुई है।